NAAC Accredited with CGPA of 2.70 at ‘B’ Grade


केन्द्रीय पुस्तकालय (Central Library)

 

 

स्वo महाराजधिराज सर कामेश्वर सिंह जी की बहुमूल्य प्राचीनतम दुर्लभ, पुस्तकों के दान से 1961 ई0 मे कामेश्वर सिंह दरभंगा संस्कृत विश्वविघालय में केन्द्रीय पुस्तकालय की स्थापना हुई । तत्काल 6,084 प्राचीन पुस्तकों से इसकी शुरुआत की गई । क्रमशः विश्वविघालय अनुदान आयोग, नई दिल्ली के अनुदानों एवं अन्य स्रोतों से प्राप्त पुस्तकों की संख्या में काफी वृद्धि हुई । इनके अलावे महारानी कामसुन्दरी के सौजन्य से सन् 1976 में एक अनुपम संग्रहालय की स्थापना की गई थी । इसमें कुल 659 अदद हैं, जो केन्द्रीय पुस्तकालय के नये भवन में रखे गये हैं । संग्रहालय में महाराजा का अंगवस्त्रम्, दुर्लभ प्राचीन मूर्तियाँ, आनन्द विलास महल का स्टैचू डेनियल की पेन्टिंग्स एवं अन्य तस्वीरें प्रमुख हे।

कुल खरीद की गई पुस्तकों की संख्या 97349
कुल दान स्वरूप पुस्तकों की संख्या (राज दरभंगा से प्राप्त  15156  सहित) 32449
शोध प्रबंध की संख्या 1733
कुल  131531
तालपत्रों की संख्या 540
ट्रस्क्रीप्ट की संख्या   78
कागज पाण्डुलिपि की संख्या 5525
कुल   6143

पुस्तकालय में अधिकारी

1- डॉ बिदेश्वर झा--->विशेष पदाधिकारी--->8809787946

2- श्री नरोत्तम मिश्र-->सूचना वैज्ञानिक-->9431286913

पुस्तकालयाध्यक्ष- स्व0 जागेश्वर महतो (स्थापना काल से 1990 तक)

पद  नाम   
  सहायक पुस्तकालयाध्यक्ष ,   सूचीकार  श्री त्रिलोक नाथ झा (प्रभारी)  9708777217 
प्रोफेशनल जूनियर    श्री  सुमित्रा  नन्दन  ठाकुर 9835818225
शौर्टर    श्री  राजेन्द्र  ठाकुर 9771687196
शौर्टर    श्री  बैघनाथ  झा 7549794819
पुस्तकालय सहायक   श्री  सोने  लाल  पासवान  9955643281

 

संस्कृतविश्वविद्यालय ग्यारवीं पंचवर्षीय योजना अंन्तर्गत पुस्तक खरीद हेतु प्रक्रिया अन्तर्गत

पुस्तकालय में कम्प्यूटर सुविधायें

वि0 वि0 अनुदान आयोग नयी दिल्ली द्वारा INFLIBNET प्रोग्राम के अर्न्तगत कम्प्यूटर एवं अन्य अपेक्षित उपकरण खरीदे गये हैं, साथ ही भारत सरकार, बिहार सरकार, B S N L के द्वारा इन्टरनेट भी कार्य करने लगा है ! विघार्थियों, गवेषकों एवं अन्य जिज्ञासुओं को कम्प्यूटर के माध्यम से पुस्तकालय में उपलब्ध पुस्तकों की जानकारी दी जा रही है । विश्वविघालय का अपना वैबसाइट भी चालू कर दिया गया है । Website का पता है www.ksdsu.edu.in । Website पर तत्काल विश्वविघालय की सामान्य जानकारी प्राप्त की जा सकती है । Website को सूचना का और सशक्त माध्यम बनाने के लिए विश्वविघालय प्रयासरत है । यू0 जी0 सी योजनार्न्गत प्राप्त मद से ऑटोमेशन का कार्य प्रारंभ हैं तथा इस कार्य के समाप्ति के उपरांत डिजिटायजेशन का कार्य किये जायेंगे । SOUL Software पर 60930 पुस्तकों का डाटा फिट कर दिया गया है।

 

Contact Us

Kameshwar Singh Darbhanga Sanskrit University
Kameshwar Nagar, Darbhanga,
Bihar- 846008, INDIA
Email:- ksdsureg@gmail.com / ksdsuvc@gmail.com
P:
(+91) 62727-222178 / 248944
Fax: (+91) 6272-248067