स्नातकोत्तर वेद विभाग



स्नातकोत्तर वेद विभाग में शुक्लयजुर्वेद विषय के शिक्षण की सम्यक् व्यवस्था के साथसाथ कर्मकाण्ड विषयक सैद्धान्तिक एवं प्रायोगिक प्रशिक्षण की सुदृढ व्यवस्था है । प्राच्य विघा के अन्तर्गत वेद, वेदाङ्ग, ब्राह्मण, श्रौतसूत्र एवं आरण्यक आदि विषयों के अध्यापन द्वारा छात्रों को वैषयिक ज्ञान प्रदान किया जाता है । आचार्य एवं शोध विषय के छात्रों को वैदिक यज्ञशाला में यज्ञपात्रों के परिचयात्मक ज्ञान के साथसाथ श्रौत एवं स्मार्त्त यज्ञों के सम्बन्ध में विस्तृत प्रशिक्षण दिया जाता है । शोध के छात्रों को वैश्विक समस्याओं से सन्दर्भित पर्यावरण एवं प्रदूषण निवारण से सम्बंधित वैदिक समाधान का अनुसन्धानात्मक कार्य कराया जाता है, जो इस विभाग के वैशिष्ट्य को दर्शाता है । 

 

कुल शिक्षक    

(क)   डॉ० पारस नाथ मिश्र विभागाघ्यक्ष                              9430996634

(ख)   डॉ० विघेश्वर झा     प्राचार्य एवं संकायाध्यक्ष                          9006998790

(ग)   डॉ० विनय कुमार मिश्र उपाचार्य (एसोसिएट प्रोफेसर)                    9905898710

(घ)   डॉ० सत्यवान कुमार व्याख्याता (सहायक प्रोफेसर)                9431471653

 

शिक्षकेतर कर्मचारी

(क)   श्री चन्देश्वर तिवारी   दिनचर्या लिपिक                                

(ख)   श्री शशिशेखर मिश्र   चतुर्थवर्गीय कर्मचारी                       9546641931

 

पुस्तकों शोधपत्रिकाओं एंव शोधप्रबन्धों की संख्या

 

(क) कुल पुस्तक सं०       4212

(ख) शोधपत्रिका                           42

(ग) शोधप्रबन्ध                42

            कुल                         4296

छात्रविवरणी

(क)   आचार्य प्रथम खण्ड   सत्र 20132015                            17

(ख)   आचार्य द्वितीय खण्ड        सत्र 20142015                15

                        कुल छात्र                                   32

 

शोध गतिविधि वर्ष 2013 14 में शोधोपाधि प्राप्त गवेषक एवं पर्यवेक्षक

          

 

 

गवेषक

पर्यवेक्षक

विषय

1

श्री शम्भु कुमार झा     

डॉ. विघेश्वर झा

सामविधान ब्राह्मणोक्त प्रायश्चित्तानां स्मृतिदृष्ट्या विवेचनम्

2

श्री जय प्रकाश द्विवेदी

डॉ. गोविन्द झा

नारदीयसम्प्रदायप्रवोधनी शिक्षक्यो स्तुलनात्मकमध्ययनम्

 

3

श्री मनोज कुमार मिश्र  

डॉ. धनेश्वर झा

कर्मकाण्डसाधनसमीक्षा

4

श्री राजकिशोर मिश्र

डॉ. विनय कुमार मिश्रा

श्रौतस्मार्त दृष्ट्या संस्कारणां वैज्ञानिकत्व विमर्शः

5

राधेश्याम झा

डॉ. विघेश्वर झा

खादिरगृह्यसूत्रस्य समीक्षात्मकमध्ययनम्

6

गंगाधर मिश्र

डॉ. गोविन्द झा

न्त्रार्थदीपिकायंा समागतमन्त्राणम् उब्बटशत्रुघ्नभाष्यस्य समीक्षात्मकमध्ययनम्

7

मिथिलेश कुमार मिश्र

डॉ० विनय कुमार मिश्र

अश्वमेधयज्ञस्य वैज्ञानिकत्वसमीक्षणम्

 

 

 

विघावारिधि उपाधि हेतु पंजीकृत छात्रों की विवरणी

 

 

गवेषक

पर्यवेक्षक

विषय

1

श्री मनोज कुमार झा

डॉ. विनय कुमार मिश्र

पर्यावरण समस्यायाः वैदिकं समाधानम्

2

श्री विश्वनाथ मिश्र

डॉ. विनय कुमार मिश्र

निरुक्तस्य दैवतकाण्डेदेवतास्वरूप चिन्तनम्

3

श्री चन्द्रिका उपाघ्याय

डॉ. गोविन्द झा

मुण्डकोपनिषद् वर्णितविषयाणां समीक्षात्मकमघ्ययनम्

4

श्री प्रवीण कुमार मिश्र

डॉ. विघेश्वर झा

प्रश्नोपनिषदः समीक्षात्मकमघ्ययनम्

5

श्री रंजीत कुमार

डॉ. धनेश्वर झा

वाजसनेयिसंहितामन्त्रगत देवतानं विवरणात्मकमघ्ययनम्

6

श्री दुर्गेश कुमार झा

डॉ. विघेश्वर झा

ऋक्प्रातिशाख्यस्थ वर्णाच्चारण प्रक्रिया समीक्षणम्

7

श्री अमर कान्त झा

डॉ. विघेश्वर झा

गायङ्क्षुपासनायाः वैदिक पौराणिकमहत्त्वसमीक्षणम् 

8

श्री शशि भूषण झा

डॉ. विनय कुमार मिश्र

लौकिकसाहित्यस्याभिवृद्धौवैदिकसाहित्यस्यावदानम्

9

श्री शक्ति नाथ झा

डॉ. धनेश्वर झा

वैदिक वाङ्मये छन्दसामुपयोगित्व विमर्शः

10

श्री राजेश कुमार झा

डॉ. विनय कुमार मिश्र

वेदाङ्गेषु याज्ञवल्क्यशिक्षायाः स्थानम्

11

श्री विजय कुमार झा

डॉ. राजेन्द्र झा

नारदीयशिक्षानुसारं समवेदस्वराणां समीक्षात्मकमघ्ययनम्

12

श्री रंजीत कुमार मिश्र

डॉ. विघेश्वर झा

आश्वलायनगृह्यसूत्रस्य समीक्षात्मकमघ्ययनम्

 

 

           

विघावाचस्पति उपाधि हेतु पंजीकृत गवेषकों की विवरणीः

 

 

गवेषक

पर्यवेक्षक

विषय

 

डॉ० सत्यवान कुमार

डॉ० विघेश्वर झा

वैदिकच्छन्दासां समीक्षात्मकमध्ययनम्

 

डॉ०(श्रीमती) रमा कुमारी

डॉ० विघेश्वर झा

वैदिकसाहित्ये काव्यतत्त्वस्य समीक्षात्मकमध्ययनम्

 

प्रमुख श्ौक्षणिक गतिविधिः 

(1) स्नातकोत्तर वेद विभाग द्वारा 27, 28 अगस्त,2014 में द्विदिवसीय राष्ट्रीय सेमिनार ट्टट्टश्रौतयाग विमर्शः विषय पर आयोजित किया गया ।

(2) पुनश्च स्नातकोत्तर वेदविभाग द्वारा का.सि.द.संस्कृत विश्वविघालय राष्ट्रिय कार्यशाला दश दिवसीय दिनांक12.09.2014 से 21.09.2014 तक सोमयाग विमर्शः विषय पर आयोजित की गई। इस अवसर पर विभाग द्वारा व्यावहारिक रूप में पूर्णमासेष्टि एवं नक्षत्रेष्टि का विशेष रूप से प्रस्तुत किया गया । जिसमें छात्रों को विशेष रूप से श्रौतयाग का प्रायोगिक प्रशिक्षण भी प्राप्त हुआ ।

 

विभागीय शिक्षकों द्वारा सेमिनार आदि में भाग ग्रहण ।

 

डॉ० पारसनाथ मिश्र द्वारा स्नातकोत्तर साहित्य विभाग में नेट कोचिंग में भाग ग्रहण ।

           

(1) आधार पुरुष के रूप में प्रदत्त विविध व्याख्यान ।

            (2) विश्वविघालय की विविध समितियों में भाग ग्रहण ।

            (3)        स्नातकोत्तर साहित्य विभाग में नेट कोचिंग के अन्तर्गत आधार पुरुष के रूप में व्याख्यान ।

 

डॉ० विघेश्वर झा

            (1)        डॉ० विघेश्वर झा द्वारा विविध सेमिनारों में भाग ग्रहण ।

            (2)        विश्वविघालय की विविध समितियों में भाग ग्रहण ।

            (3)        स्नातकोत्तर साहित्य विभाग में नेट कोचिंग के अन्तर्गत आधार पुरुष के रूप में व्याख्यान ।

            (4) केन्द्रीय पुस्तकालय के विशेष पदाधिकारी के रूप में कार्य सम्पादन ।

            (5)        स्नातकोत्तर वेद विभाग में आयोजित राष्ट्रिय सेमिनार एवं कार्यशाला का संयोजकत्व ।

 

डॉ० विनय कुमार मिश्र

            (1)        विविध सेमिनारों में भाग ग्रहण ।

            (2)        स्नातकोत्तर साहित्य विभाग में आयोजित नेट कोचिंग के अन्तर्गत आधार पुरुष के रूप में व्याख्यान ।

            (3)        विभागीय नोडल पदाधिकारी ।

            (4)        स्नातकोत्तर वेद विभाग में आयोजित राष्ट्रिय सेमिनार एवं कार्यशाला का सहसंयोजकत्व ।

            (5)        परीक्षा विभाग में विशेष पदाधिकारी परीक्षा के रूप में कार्य सम्पादन ।

 

डॉ० सत्यवान कुमार

           

(क)   डॉ० सत्यवान कुमार के द्वारा 2014 वर्षीय राष्ट्रिय सेमिनार एवं कार्यशाला में निष्ठापूर्वक योगदान।

            (ख)   विश्वविघालय परीक्षा विभाग में विशेष गोपनीय कार्य सम्पादन हेतु सक्रियता के साथ कार्य       सम्पादन ।

           

पुस्तक/आलेख प्रकाशन (विभागीय शिक्षकों द्वारा)

 

1

ऊ.खम्ब्रहमेत्यस्य विचारः

संस्कृत मनीषा

डॉ० विघेश्वर झा

2

पितृकर्मस्वरूप विवेचनम्

गुरुबाग् विलासः

डॉ० विघेश्वर झा

3(क)

वैदिक वाङ्मये शिक्षाप्रातिशाख्ययोःस्थानम्

गुरुवाग विलासः

डॉ० विनय कुमार मिश्र

3(ख)

सूर्य आत्मा जगतस्तस्थुशश्च

विघापति टाईम्स

डॉ० विनय कुमार मिश्र

4

नवार्ण मन्त्र जपविचार

मॉ श्यामा सन्देश2014

डॉ० विघेश्वर झा

5

प्राच्य वाङ्मय में शक्त्युपासना के स्वर

मॉ श्यामा सन्देश 2014

डॉ० विनय कुमार मिश्र

6

विश्वक क्षिंतिज पर याज्ञवल्क्यक अवदान

विघापति टाईम्स

डॉ० विघेश्वर झा

7

शुक्लयजुर्वेदीया मध्यन्दिनसंहिता तृतीयाध्यान्ता

कलाप्रकाशन

डॉ० विघेश्वर झा

8

वैदिक समाज और आचार विचार समीक्षा

कला प्रकाशन

डॉ० विघेश्वर झा

9

रूद्रयामलोक्तामृतीकरण प्रयोग (प्रकाशनाधीन)

रमण प्रेस, दरभंगा

डॉ० विघेश्वर झा

10

सामगान प्रयोग फलम्

 

डॉ० विघेश्वर झा

11

एकत्रिंशाध्यायस्य प्रकृतिविकृतिपाठाः

 

डॉ० विघेश्वर झा

12

श्रौतस्मार्त यज्ञ विमर्शः      

 

डॉ० विनय कुमार मिश्र

13

श्रौतस्मार्त्त दृष्ट्या रुद्रस्य

स्थितिकला 

डॉ० विनय कुमार मिश्र