स्नातकोत्तर दर्शन विभाग

दर्शन विभाग में न्यायदर्शन, सांख्ययोगमीमांसा वेदान्त, रामानुजवेदान्त, रामानन्दवेदान्त, माध्व वेदान्त, बल्लभवेदान्त, ज्ौनदर्शन, बौद्धदर्शन, सर्वदर्शन, श्ौवागम आदि विषयों का अध्यापन होता है ।

 

शिक्षकों की संख्या  

1

पं० शशि कान्त झा सुमन

(सांख्ययोग)

विभागाघ्यक्ष

9973339594

2

डॉ० बौआनन्द झा

उपाचार्य सह संकायाध्यक्ष

9470476663

 

3

डॉ0 सुधीर कुमार झा

(आ० दर्शन) (प्रतिनियोजित) 

सहायक प्रोफेसर

993100904

शिक्षकेत्तर कर्मी

 

 

1

श्री ललन कुमार झा

दिनचर्या लिपिक

9204033917

 

2

श्रीमती पार्वती देवी

आदेशपाल

9308183900

 

 

                                           

इस विभाग में कुल 5500 पुस्तकें तथा 250 जर्नल (पत्रिकायें) कुल 5750 पुस्तकें हैं।

 

छात्र संख्या  2013 2014 सत्र 12 छात्र नामांकित   

            (क) आचार्य प्रथम खण्ड  8

            (ख) आचार्य द्वितीय खण्ड 4

 

प्रो० शशि कान्त झा सुमन द्वारा कृत कार्यो का विवरण

(1)        विभागाघ्यक्ष के दायित्वों का सफल निर्वहण ।  

(2)        विद्वत्परिषद् के सदस्य के रूप में कार्यो का सम्पादन

(3)        विश्वविघालय अनुदान आयोग के वित्तीय सहयोग से आयोजित राष्ट्रिय संगोष्ठी

(दिनांक 300814 तक) आयोजित के अध्यक्ष तथा एक सत्र के संयोजन का सम्पादन ।

(4)        महनीय मणिमाला आचार्य विघावाचस्पतिमणिनाथ झा स्मृतिग्रन्थ में ट्टट्टवैयाकरण शिरोमणि मणिनाथ झा एक संस्मरण विषय पर आलेख प्रस्तुत ।

(5)        सेवाप्रवेश नेटकोचिंग एवं रिमेडियलकोर्स में वर्गो का अध्यापन

     

डॉ0 बौआ नन्द झा द्वारा कृत कार्यो का विवरण  

(1)        विभागीय अध्ययनअध्यापन के अतिरिक्तविद्वत्परिषद्अधिषद् तथा परीक्षापरिषद प्रभृति निकायों के सदस्य के रूप में विशिष्ट योगदान ।

(2)        डा. झा के मार्ग निर्देशन में अमरेन्द्र कुमार मिश्र गवेषक को विघावारिधि की उपाधि 22914 को प्राप्त तथा 4 गवेषक कार्यरत ।

(3)        सर्वतन्त्र स्वतन्त्र वच्चा झा का समग्रपरिचय आलेख (24 पृष्टात्मक) राष्ट्रिय स्वयं सेवक संघ शताब्दी समारोह पत्रिका में प्रकाश्यमान ।

(4)        ट्टट्टश्यामा सन्देश पत्रिका में भगवती के विभिन्न रूपों तथा उपासना विधि पर ट्टट्टकलौचण्डी महेश्वरौ विषयक वृहत् आलेख प्रकाशित ।

(5)        शिव पूजाविधि तथा स्तोत्र संग्रह में दस पृष्टात्मक भूमिका प्रकाशित ।

(6)        डॉ० किशोर चन्द्र महापात्र अभिनन्दन ग्रन्थ में ट्टट्टआत्मस्वरूप विमर्शः विषयक आलेख प्रकाशित ।

(7)        राष्ट्रिय संस्कृत संस्थान, नयी दिल्ली के न्याय पाठ्यग्रन्थ निर्माण हेतु गठित समिति का सदस्य (तीन वर्षो के लिए) नामित ।

(8)        कई गवेषकों का मार्गनिर्देशन तथा विघावाचस्पति हेतु पंजीकृत डा. उदयचन्द्र झा गवेषक का सहमार्ग निर्देशक।

(9)        सेवा प्रवेश नेट कोचिंग एवं रेमिडियल कोचिंग में 50 से अधिक वर्गों का अध्यापन।

(10)      विश्वविघालय अनुदान आयोग द्वारा वित्त सम्पोषित द्विदिवसीय राष्ट्रिय संगोष्ठी (30814 एवं 31814) का प्रमुख संयोजक के रूप में कार्यो का सम्पादन ।

(11) सामाजिक तथा सांस्कृतिक कार्यक्रमों में भागग्रहण ।

 

डॉ0 सुधीर कुमार झा द्वारा कृत कार्यो का विवरण 

 

(क) प्राशासनिक कार्य

(1)        वि0 वि0 में राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्यक्रमसमन्वयक एवं रेड रिबन क्लव (विहार एड्स नियंत्रण समिति, पटना) के नोडल पदाधिकारी के रूप में सफल नेतृत्त्व

(2)        चार गवेषक का सफल पर्यवेक्षण ।

(3)        बिहार दर्शन परिषद् अखिल भारतीय दर्शन परिषद, प्दकपंद च्ीपसवेवचीपबंस

ब्वदहतमेे ंदक प्दकपंद ैवबपमजल व िळंदकींपद ेजनकपमेण्  का आजीवन सदस्य ।

(4)        संस्कृत मनीषा ट्टभारतीय तर्कशास्त्र वैशिष्टयम् आलेख प्रकाशित ।

(5)        ट्टभारतीय दर्शनेषु तर्क महिमा शब्द प्रकाशन, नई दिल्ली द्वारा प्रकाशित ।

(6)        दर्जनों आलेख प्रकाश्यमान ।

(7)        वि0 वि0 अनुदान आयोग के ट्टडपदवत च्तवरमबज हेतु समर्पित आलेखट्टमिथिलांचन के वेदान्त दर्शन के आलोक में व्यतQ मानवीय संवेदनाएँ ।

(8)        सेवा प्रवेश, नेट कोचिग एवं रिमेडियल कोर्स में अध्यापन कार्य ।

(9)        कामेश्वरसिंह दरभंगा संस्कृत विश्वविघालय एवं ललित नारायण मिथिला विश्वविघालय, दरभंगा के अनेक महाविघालयों मेें समसामयिक, सामाजिक एवं नैतिक विषय पर व्याख्यान ।

(10)      राष्ट्रीय सेवा योजना के तहत् विहार में विभिन्न विश्वविघालय में आयोजित बैठक में भाग ग्रहण ।

 

सेमीनार/संगोष्ठी एवम् कार्यशाला

1.         यू.जी.सी., नई दिल्ली द्वारा वित्तीय सहायता प्राप्त का.सि.द. संस्कृत विश्वविघालय में आयोजित राष्ट्रिय संगोष्ठी (24, 25 फरवरी 2014) में भाग ग्रहण एवं आलेख प्रस्तुत ।

 

2.         बनारस हिन्दू विश्वविघालय, वाराणसी के संस्कृत विघा धर्म विज्ञान संकाय के अन्तर्गत धर्मागम विभाग द्वारा आयोजित अन्तराष्ट्रीय संगोष्ठी (दि.7, 8 एवं 9 मार्च, 2014) में सत्राध्यक्ष की दायित्व का निर्वहन।

 

3.         बनारस हिन्दू विश्वविघालय, वाराणसी के संस्कृत विघाधर्म विज्ञान संकायान्तर्गत धर्मागमविभाग द्वारा अयोजित अन्तराष्ट्रीय संगोष्ठी (दिनांक 7, 8 एवं 9 मार्च, 2014) में भाग ग्रहण एवं आलेख वाचन।

 

4.         विश्वविघालय अनुदान आयोग की आर्थिक सहायता से कामेश्वर सिंह दरभंगा संस्कृत विश्वविघालय में आयोजित राष्ट्रिय संंगोष्ठी में (दिनांक 28.03.14) में भाग ग्रहण एवं आलेख प्रस्तुतीकरण ।

 

5.         विहार दर्शन परिषद के 36 वीं वार्षिक कॉन्प्रेन्स दिनांक 30, 31 मार्च, 2014 को चन्द्रधारी मिथिला महाविघालय, दरभंगा में आयोजित कार्यक्रम में भागग्रहण एवं आलेख प्रस्तुतीकरण ।

 

6.         वि0 वि0 अनुदान आयोग के वित्तीय सहायता से कामेश्वर सिंह दरभंगा संस्कृत विश्वविघालय के अन्तर्गत स्नातकोत्तर दर्शन विभाग द्वारा आयोजित  (दिनांक30, 31 अगस्त 2014) राष्ट्रीय संगोष्ठी में भाग ग्रहण एवं आलेख प्रस्तुतीकरण ।

           

विश्वविघालय अनुदान आयोग की आर्थिक सहायता से कामेश्वरसिंह दरभंगा संस्कृत विश्वविघालय, दरभंगा के अन्तर्गत स्नातकोत्तर दर्शन विभागीय राष्ट्रीय संगोष्ठी दिनांक 30, 31 अगस्त 2014 में सहसंयोजक के दायित्वों का निर्वहन ।

           

विभागीय परिषद् के सदस्य के दायित्वों का निर्वहन ।

           

ट्टस्वच्छ भारतस्वस्थ भारत अभियान के प्रति कृत संकल्पित